Sachin Mishra
(Student)

  •  1-मन मे ठान ले की मैंने डिप्रेशन से निकलना है
     2-किसी डॉक्टर से मिले
    3- Friends के साथ जुड़े
    5- पूरी नींद ले
    योगा करे, Music सुने
    6- Social Media का इस्तेमाल करे
    7-Negative Talk और सोच ना रखे

    Is tarah ke solution milte hain Google krne pe or a single thing isn’t working because depress person ko samaj nhi aata ki ho Kya Raha h uske liye…[Read more]

  • Sachin Mishra posted a new activity comment 9 months, 3 weeks ago

    This is such big problem of now-a-days. Even kuch log to sucide tk kr lete Hain or kuch to Puri life looser ban ke Kat lete hain really if can do for it a little bit I will be glad.

  • Sachin Mishra posted an update 1 year ago

    fir chale aaye tere jahan mai e-dost.
    ajj akela hai tu.
    ek din lakhon honge isi tere jaha mai.

  • Sachin Mishra posted an update 1 year ago

    बिल गेट्स को किसी परिचय कि आवश्यकता नहीं है, वह पूरी दुनिया में अपने कार्यों से जाने जाते हैं | हम सभी यह भली भांति जानते हैं कि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ Software Company “Microsoft” की नींव भी Bill Gates के द्वारा ही रखी गयी है |

    आइये आज हम आपको बिल गेट्स की जीवनी (Bill Gates Biography in Hindi) की विस्तार पूर्वक जानकारी देते हैं |

    बिल गेट्स क…[Read more]

  • Sachin Mishra posted an update 1 year ago

  • Sachin Mishra and Profile picture of pooja yadavpooja yadav are now friends 1 year ago

  • Sachin Mishra and Profile picture of rashi sharmarashi sharma are now friends 1 year ago

  • Sachin Mishra posted an update 1 year ago

    If you have guts so do today don’t speak
    Otherwise stay at corner,shut your mouth and keep slient your mind don’t assume anything and accept it you can’t do that. and think only how you will spend remain time of your life, because you can’t die if you able to do it then why you can’t get sucess .

  • Sachin Mishra posted an update 1 year ago

  • @rohit-2
    “I don’t like your tone,” was Violet’s standard answer when one of her children was winning an argument.”

  • एक बार कुछ विद्यार्थी रसायन विज्ञानं प्रयोगशाला में कुछ प्रयोग कर रहे थे. सभी विद्यार्थी अपने अपने प्रयोगों में व्यस्त थे कि अचानक एक लड़के की परखनली से तेज बुलबुला उठा और उसकी छिट्कियाँ सामने प्रयोग कर रही लड़की की आँखों में चला गया.पूरी प्रयोगशाला में हाहाकार मच गया, सभी खूब परेशांन हुए, आनन फानन में उस लड़की को अस्पताल पहुँचाया गया, वहाँ ड…[Read more]

  • काबू में रखें – प्रार्थना के वक़्त अपने दिल को,
    काबू में रखें – खाना खाते समय पेट को,काबू में रखें – किसी के घर जाएं तो आँखों को,
    काबू में रखें – महफ़िल मे जाएं तो ज़बान को,
    काबू में रखें – पराया धन देखें तो लालच को,

    भूल जाएं – अपनी नेकियों को,
    भूल जाएं – दूसरों की गलतियों को,
    भूल जाएं – अतीत के कड़वे संस्मरणों को,

    छोड दें – दूसरों को नीचा दिखा…[Read more]

  • थक गया हूँ तेरी नौकरी से ऐ जिन्दगी मुनासिब होगा मेरा हिसाब कर दे…!!”

    दोस्तों से बिछड़ कर यह हकीकत खुली… बेशक, कमीने थे पर रौनक उन्ही से थी!!

    भरी जेब ने ‘ दुनिया ‘ की पहेचान करवाई और खाली जेब ने ‘ इन्सानो ‘ की.
    जब लगे पैसा कमाने, तो समझ आया, शौक तो मां-बाप के पैसों से पुरे होते थे,
    अपने पैसों से तो सिर्फ जरूरतें पुरी होती है।

    कुछ सही तो कुछ ख…[Read more]

  • . कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने खूबसूरत हैं ?
    क्योंकि..लँगूर और गोरिल्ला भी अपनी ओर लोगों का ध्यान आकर्षित कर लेते हैं..
    2. कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका शरीर कितना विशाल और मज़बूत है ?
    क्योंकि…श्मशान तक आप अपने आपको नहीं ले जा सकते….
    3. आप कितने भी लम्बे क्यों न हों , मगर आने वाले कल को आप नहीं देख सकते….
    4. कोई फर्क नहीं पड़ता कि , आपकी त्वचा…[Read more]

  • पायल ‘ हज़ारों रूपये में आती है
    पर
    ‘ पैरो ‘ में पहनी जाती है
    और..
    ‘ बिंदी ‘ एक रूपये में आती है
    मगर
    ‘ माथे ‘ पर सजाई जाती है..

    इसलिए कीमत मायने नहीं
    रखती उसका कृत्य मायने रखता हैं.

  • एक ‘ किताबघर ‘ में पड़ी ”
    ” गीता ” और ” कुरान ” आपस में कभी नहीं लड़ते,
    और
    जो उनके लिए लड़ते हैं वो कभी उन दोनों को नहीं
    ” पढ़ते “..

  • नमक ‘ की तरह
    ‘ कड़वा ‘ ज्ञान देने वाला ही
    ‘ सच्चा मित्र ‘ होता है..

    ‘ मीठी ‘ बात करने वाले तो
    ‘ चापलूस ‘ भी होते है..

    इतिहास गवाह है की आज तक कभी ‘ नमक ‘ में ‘ कीड़े ‘ नहीं पड़े..

    और ‘ मिठाई ‘ में तो अक़्सर ‘ कीड़े ‘ पड़ जाया करते है.