Activity
(Student)

  • Sachin Mishra posted an update 1 year ago

    नमक ‘ की तरह
    ‘ कड़वा ‘ ज्ञान देने वाला ही
    ‘ सच्चा मित्र ‘ होता है..

    ‘ मीठी ‘ बात करने वाले तो
    ‘ चापलूस ‘ भी होते है..

    इतिहास गवाह है की आज तक कभी ‘ नमक ‘ में ‘ कीड़े ‘ नहीं पड़े..

    और ‘ मिठाई ‘ में तो अक़्सर ‘ कीड़े ‘ पड़ जाया करते है.